7354920406

 24 घंटे मरीज को घर से ले जाने की सुविधा उपलब्ध है गाड़ी द्वारा.. Call – 7354920406 / 09131190455 

नशे ने की दुर्दशा…………

नशे ने की दुर्दशा…………… सुरेश शराब नहीं पीता पर यह नशा शराब से कई गुना ज़्यादा हानिकारक है. यह साइकिलों और गाड़ियों के टायर-ट्यूब का पंचर जोड़ने वाला रसायन है. सुरेश इसे ‘सुलेसन’ (सॉल्युशन) कहता है. सुरेश के बाक़ी तमाम साथी भी दिन भर इसी नशे में मस्त रहते हैं. वो यह नशा क्यों करता … Read moreनशे ने की दुर्दशा…………

पंचकर्म

पंचकर्म पंचकर्म आयुर्वेद का एक प्रमुख शुद्धिकरण एवं मद्यहरण उपचार है। पंचकर्म का अर्थ पाँच विभिन्न चिकित्साओं का सम्मिश्रण हैं। इस प्रक्रिया का प्रयोग शरीर को गलत आहार-विहार जैसे कि अत्यधिक मादक पदार्थों के सेवन आदि के द्वारा छोड़े गए विषैले पदार्थों से निर्मल करने के लिए होता है। आयुर्वेद कहता है कि असंतुलित दोष … Read moreपंचकर्म

Blog

अनुभूतियों और संवेदनाओं का केन्द्र मनुष्य का मस्तिष्क है। सुख-दुःख का, कष्ट-आनंद का, सुविधा और अभावों का अनुभव मस्तिष्क को ही होता है तथा मस्तिष्क ही प्रतिकूलताओं को अनुकूलता में बदलने के जोड़-तोड़ बिठाता हैं। कई व्यक्ति इन समस्याओं से घबरा कर अपना जीवन ही नष्ट कर डालते है, परन्तु अधिकांश व्यक्ति जीवन से पलायन … Read moreBlog

नशे का प्रभाव

हमारे केंद्र में किसी भी तरह का नशा करने के आदी व्यक्ति को प्रेमपूर्ण माहौल में रखकर  योग, ध्यान, मनोवैज्ञानिक उपचार, ग्रुप थैरेपी, तथा मेडिकल ट्रीटमेंट के संयोजन से बनाये गए कार्यक्रम की सहायता से नशे से पूर्ण छुटकारा दिलवाया जाता है।  ये नशा मुक्ति हेतु सबसे प्रभावी कार्यक्रम है। इसके द्वारा नशे से पीड़ित व्यक्ति … Read moreनशे का प्रभाव

Addicted व्यक्ति की पहचान.

Addicted व्यक्ति की पहचान……………. व्यसनी की पहचान………. मादक द्रव्यों के लगातार सेवन से कुछ विशेष लक्षण दिखाई देने लगते हैं जिनके आधार पर यह पहचानाजा सकता है कि व्यक्ति इनका आदी हो चुका है-[1] (१) मादक द्रव्यों के सेवनकरने की प्रबल इच्छा या तलब का होना।(२) सहनशक्ति (Tolerance) अर्थात् नशे के लिए मादक द्रव्यों के … Read moreAddicted व्यक्ति की पहचान.

नशे ने की दुर्दशा.

सुरेश शराब नहीं पीता पर यह नशा शराब से कई गुना ज़्यादा हानिकारक है. यह साइकिलों और गाड़ियों के टायर-ट्यूब का पंचर जोड़ने वाला रसायन है. सुरेश इसे ‘सुलेसन’ (सॉल्युशन) कहता है. सुरेश के बाक़ी तमाम साथी भी दिन भर इसी नशे में मस्त रहते हैं. वो यह नशा क्यों करता है, इसके जवाब में उसने … Read moreनशे ने की दुर्दशा.

Call Now Button